वाराणसी से प्रियंका गांधी के चुनाव लड़ने की अटकलों पर आया BJP का रिएक्शन

वाराणसी से प्रियंका गांधी के चुनाव लड़ने की अटकलों पर आया BJP का रिएक्शन

देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कांग्रेस (Congress) ने 2024 लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Polls) के लिए प्लान तैयार कर लिया है. जिसके तहत यूपी कांग्रेस (UP Congress) के नए अध्यक्ष अजय राय (Ajay Rai) ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के अमेठी से चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है. अमेठी ही नहीं नए अध्यक्ष अजय राय तो वाराणसी से प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) के चुनाव लड़ने के संकेत भी दे रहे हैं. अब ऐसे में हर सियासी पार्टी को लग रहा है कि यूपी की डगर से ही दिल्ली का सफर पूरा होगा. ताजा बयान और हालात को देखते हुए लग रहा है कि कांग्रेस देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में अपनी खोई हुई जमीन को वापस पाने के प्लान में जुट गई है क्योंकि कांग्रेस के हालही में बने यूपी के प्रदेश अध्यक्ष ने ऐलान कर दिया है कि राहुल गांधी अमेठी से चुनाव लड़ेंगे.

अमेठी से फिर ताल ठोकेंगे राहुल गांधी

इस बयान को आधार माना जाए तो इस बार अमेठी में राहुल गांधी और स्मृति ईरानी की एक बार फिर टक्कर देखने को मिलेगी. अमेठी के सियासी मैदान में राहुल गांधी और स्मृति ईरानी कुल 2 बार आमने-सामने आए हैं जहां दोनों नेताओं ने एक-एक बार जीत दर्ज कर मुकाबला एक-एक से टाई किया है. जहां 2014 के लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी ने करीब 90 हजार वोट से तो 2019 में स्मृति ईरानी ने करीब 55 हजार वोटों से जीत दर्ज की थी.

अमेठी से 3 बार जीते राहुल गांधी

2019 में करीब 21 साल बाद कांग्रेस को अमेठी की सीट से हार मिली थी. अमेठी सीट से राहुल के अबतक के सफर की बात करें तो अमेठी की जनता ने राहुल को 3 बार जिताकर सांसद बनाया. राहुल गांधी साल 2004 में यहां से पहली बार सांसद बने तो 2009 के लोकसभा चुनाव में राहुल पर यहां की जनता ने फिर भरोसा जताया. वहीं साल 2014 में राहुल ने यहां से जीत की हैट्रिक लगाई.

गांधी परिवार का अमेठी से है पुराना नाता

वैसे अमेठी सीट से कांग्रेस और गांधी परिवार का पुराना नाता रहा है जिसको यहां कि जनता ने भी खूब प्यार दिया. गांधी परिवार के 4 सदस्य यहां अबतक चुनाव लड़ते रहे हैं जिसमें राजीव गांधी 4 बार, संजय गांधी 1 बार, सोनिया गांधी भी 1 बार और राहुल गांधी 3 बार सांसद बने हैं. यूपी कांग्रेस अध्यक्ष के इस स्टंट को बीजेपी के सिर्फ चर्चा में रहने वाला बयान बता रही है.

प्रियंका के चुनाव लड़ने की अटकलों पर BJP का रिएक्शन

गौरतलब है कि कांग्रेस सिर्फ अमेठी ही नहीं बल्कि प्रधानमंत्री मोदी के गढ़ वाराणसी को भी टारगेट करने के मूड में नजर आ रही है. जहां अजय राय ने प्रियंका गांधी के चुनाव मैदान में उतरने के संकेत दिए हैं. इससे पहले भी पिछले 2 बार के लोकसभा चुनाव में प्रियंका गांधी के वाराणसी के चुनावी मैदान की अटकलें रही थीं लेकिन प्रियंका गांधी ने दोनों ही बार वाराणसी ही नहीं बल्कि किसी भी सीट से चुनाव नहीं लड़ा. इस बार कई नेता प्रियंका को वाराणसी से पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने की सलाह दे चुके हैं. लेकिन यूपी में बीजेपी के नेता सिद्धार्थ नाथ सिंह वाराणसी में प्रियंका की जमानत जब्त होने की बात कह रहे हैं.

सियासत में एक कहावत बड़ी मशहूर है कि दिल्ली का रास्ता उत्तर प्रदेश से होकर जाता है और जब-जब दिल्ली की गद्दी की बात होती है तो सियासी गलियारों में ये कहावत हर ओर सुनाई देने लगती है. तो अब ऐसे में अब मान लिया जाए कि 2024 की ललकार में कांग्रेस पूरी तरह से य़ूपी का प्लान तैयार करने में जुटी हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *