Tongue Taste Change: इन बीमारियों में अचानक बदल जाता है Tongue का Taste , नजरअंदाज करना पड़ जाएगा भारी

Tongue Taste Change: इन बीमारियों में अचानक बदल जाता है Tongue का Taste , नजरअंदाज करना पड़ जाएगा भारी

हमारा जीवन खाने के बिना बहुत देर तक नहीं चल सकता, लेकिन हर कोई खाने में केवल जीवन बचाने के लिए नहीं खाता, बल्कि उन्हें खाने में taste भी चाहिए, जिसकी जिम्मेदारी हमारी tongue पर होती है। लेकिन कई बार हम tongue में taste को महसूस नहीं करते और उन्हें नजरअंदाज कर देते हैं, लेकिन ऐसा करना dangerous हो सकता है क्योंकि मुरझाई हुई tongue किसी कई गंभीर बीमारी का संकेत हो सकती है। वास्तव में, जब हम बीमार होते हैं, तो हमारी tongue का taste और रंग भी बदल जाता है, इसलिए doctors अक्सर हमारी tongue व् को इलाज के दौरान देखते हैं।

tongue का taste क्यों बदलता है?

1. Flu

किसी को Flu से गुजरने पर tongue का taste कम हो सकता है। यह एक सामान्य शारीरिक समस्या है, लेकिन कुछ मामलों में यह एक बीमारी का संकेत भी हो सकता है।

2. मधुमेह

मधुमेह रोगियों के tongue के taste में परिवर्तन हो सकता है। इससे उनके रक्त शर्करा की स्थिति का पता लगाने में मदद मिल सकती है।

3. दंत समस्याएँ

दंत समस्याएँ भी tongue के taste को प्रभावित कर सकती हैं। इसका कारण मसूड़ों की सूजन, दाँतों की cavity, या मुख साफ न रखने का हो सकता है।

4. तंत्रिका समस्याएँ

कई तंत्रिका रोग, जैसे कि Parkinson की बीमारी, Alzheimer की बीमारी, या multiple sclerosis, tongue के taste में परिवर्तन कर सकते हैं।

5. खांसी और जुकाम

खांसी और जुकाम के दौरान tongue के taste में कमी हो सकती है, क्योंकि इसका कारण नाक के बंद हो जाने से होता है, वास्तव में नाक भी हमारे taste को निर्धारित करने के लिए जिम्मेदार होती है।

6. COVID-19

Corona virus संक्रमण ने पूरी दुनिया में तहलका मचा दिया था, इस दौरान कई लोगों को अपनी tongue के taste में कमी महसूस हुई। यह COVID-19 के महत्वपूर्ण लक्षणों में से एक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *